Friday, March 11, 2016

Sasur aur Jamai

जमाई बाबू अपने ससुर से दुखड़ा रो रहे थे कि कैसे उनकी पुत्री ने  उनका जीवन कंटकाकीर्ण कर दिया है!

ससुर साहब सुनते-सुनते इमोशनल हो गए!

बोले: ' बेटे! क्या बताऊँ कि तुम्हारे पास जिस कपड़े का पीस है

मेरे पास उसका पूरा थान है थान! '

No comments:

Popular Posts