Wednesday, May 03, 2017

Bankers ki kasme

बैंकरों द्वारा रोज खाई जाने वाली कसमे जो पूरी नहीं होती-

1 . सुबह 6 बजे तक उठ जाऊँगा और walk  पर जाऊँगा।
2. 15 मिनट पहले ब्रान्च पहुंचुगा।
3. Attandance register अपडेट कर दूंगा।
4. मेरा टेबल बड़ा अस्त व्यस्त रहता है उसे ठीक कर दूंगा।
5. Desktop भरा रहता है उसे खाली कर दूंगा।
6. पेन की ढक्कन नही खोऊगा।
7. लन्च पूरे आधा घंटा करुँगा।
8. इनकम टैक्स कितना कटा है चेक कर लूंगा।
9. अगले महिने छुट्टी पर जाना है, बास से बात कर लूंगा।
10. कस्टमर से झगड़ा नही करुँगा।
11. 5 बजे के बाद काम नही लुगा और 6 बजे ब्रान्च बन्द कर दूगा।
12. घर जाकर थोड़ी JAIIB और CAIIB की पढ़ाई कर लूंगा।
13. कुछ लोग- अब से और दारु नही पियूंगा।

और किसी का कुछ बाकी है  तो बताएँ ।

Wednesday, April 12, 2017

Friends - Dost

आप भले ही करोड़ों की जायदाद के मालिक हो पर जब तक शाम को चार दोस्त आपका इंतजार न कर रहे हो आप गरीब हो।

एक दोस्त ने क्या खूब लिखा है कि

"मरने के बाद मुझे जल्दी ना जला देना
मेरे दोस्तों को देर से आने की आदत है" ....

*दोस्ती* शब्द का अर्थ बड़ा ही मस्त होता है ( दो+हस्ती )
जब दो हस्ती मिलती हैं, तब दोस्ती होती है।

समुंदर ना हो तो कश्ती किस काम कीं,                               
मजाक ना हो , तो मस्ती किस काम की।।
दोस्तों के लिए तो कुर्बान है,ये जिंदगी                  
अगर दोस्त ही ना हो तो फिर ये जिंदगी किस काम कीं।।

"क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं "दोस्त"
"क्यूँ गम को बाँट लेते हैं "दोस्त"
"न रिश्ता खून का न रिवाज से बंधा है !
"फिर भी ज़िन्दगी भर साथ देते हैं "दोस्त "

Wednesday, March 22, 2017

Some Lines for friends

सभी मित्रों को समर्पित..
जब याद का किस्सा खोलूं तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।
मैं गुजरे पल को सोचूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।।
अब जाने कौन सी नगरी में
आबाद हैं जाकर मुद्दत से
मैं देर रात तक जागूं तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।।
कुछ बातें थी फूलों जैसी,
कुछ लहजे फूलों जैसे थे ।
मैं शहरे चमन में टहलूं तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।।
वो पल भर की नाराजगियाँ,
और मान भी जाना पल भर में ।
अब खुद से भी रूठूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।।

Tuesday, January 31, 2017

Value of Degree - Joke

3 इन्जिनियर एक टेढ़े मेढ़े पाइप में से
तार डालने कि कोशिश कर रहे थे,

एक गांव वाला 5 दिन से ये सब देख रहा था


5 वें दिन वो बोला:- मै करू साब ??

वो बोले:- हम 5 दिन से कोशिश कर रहे हैं, हमसे तो हुआ नहीं, तु कैसे निकालेगा ?

चल तु भी कोशिश करले……

गाँव वाला बोला:- ठीक

गाँव वाला खेत मे गया एक चूहा लाया उसकी पूँछ मे तार बान्धा चूहे को पाईप मे डाला

चूहा दुसरी तरफ से तार के साथ बाहर निकल गया |

तब सालो को पता चला डिग्री कि तो कोई वेल्यु ही नही है।

Popular Posts