Thursday, October 29, 2015

Prabhu ki aawaz

पत्नी की रोज रोज की झिक- झिक से परेशान पप्पू अपना सामान
बांधते हुए बोला -: अब तो मैं तेरे साथ एक पल भी नहीं रहूँगा ..

पप्पू रेलवे स्टेशन गया,
पप्पू ट्रेन में चढने लगा तभी आकाशवाणी हुई
"इसमें मत चढ ,ये पटरी से उतर जायगी "

पप्पू एयर पोर्ट गया
वो प्लेन में चढने लगा कि आवाज आई इसमें मत चढ ये क्रैश हो जाएगा"

पप्पू ने बस में जाने की सोची के फिर आवाज आई | "इसमें मत चढ ये खाई में गिर जायगी"

पप्पू गुस्से से बोला-:"कौन है यार ?"
आवाज आई-:"मैं भगवान हूँ !"

पप्पू रोते हुए बोला -:," प्रभु, जब मैं घोड़ी पर चढ रहा था तब आपका गला बैठ गया था क्या ..?

No comments:

Popular Posts