Wednesday, March 19, 2008

रंगों में घुली लड़की ....

खाके गुजिया, पी के भंग
लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग
बजा के ढोलक और मृदंग
खेलें होली हम तेरे संग।
होली मुबारक

************************************


रंग उड़ाये पिचकारी
रंग से रंग जाये दुनिया सारी
होली के रंग आपके जीवन को रंग दें
ये शुभकामना है हमारी।
शुभ होली।

************************************


रंग के त्यौहार में
सभी रंगों की हो भरमार
ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार
यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।
होली मुबारक।

************************************

मक्की की रोटी नींबू का अचार
सूरज की किरणें खुशियों की बहार
चांद की चांदनी अपनॊं का प्यार
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार।



************************************

रंगों में घुली लड़की क्या लाल गुलाबी है
जो देखता है कहता है क्या माल गुलाबी है
पिछले बरस तूने जो भिगोया था होली में
अब तक निशानी का वो रुमाल गुलाबी है।


************************************

1 comment:

adam brown said...

Hello I just entered before I have to leave to the airport, it's been very nice to meet you, if you want here is the site I told you about where I type some stuff and make good money (I work from home): here it is

Popular Posts